“इंसान को उस जगह हमेशा ‘खामोश’ रहना चाहिये –
जहां..
‘दो कौड़ी’ के लोग अपनी ‘हैसियत’ के गुण गाते हों…!!

Comments

comments